ईओडब्ल्यू के बाद अब बिशप पी सी सिंह पर ED ने भी कसा शिकंजा, FEMA के तहत FIR दर्ज

ईओडब्ल्यू के बाद अब बिशप पी सी सिंह पर ED ने भी कसा शिकंजा, FEMA के तहत FIR दर्ज


जबलपुर. जबलपुर से ये बड़ी खबर है. भ्रष्टाचार, आर्थिक अनियमितता, धर्मांतरण सहित विदेशी फंडिंग के आरोपों में फंसे बिशप पीसी सिंह पर ED ने भी शिकंजा कस लिया है. ईडी ने बिशप पी सी सिंह के खिलाफ फॉरेन एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट याने FEMA के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है. शक है कि बिशप के घर से जो देशी-विदेश करंसी मिली है कहीं वो हवाला की रकम तो नहीं है. इसी रकम का इस्तेमाल धर्मांतरण के लिए हो रहा था क्या.

ईओडब्ल्यू की जांच में अब तक करोड़ों की संपत्ति अर्जित करने की बात सामने आई थी. बिशप के 178 बैंक खाते, करोड़ों की एफडी , लग्जरी कारें और प्राइवेट एयरक्राफ्ट से  सैर सपाटा करने की तस्वीरों ने बिशप के आलीशान जीवन शैली का पर्दाफाश किया था. ईओडब्ल्यू को मिली शिकायत के आधार पर बिशप के 2004 से लेकर 2012 तक के खातों और लेन देन की जांच की गयी है. इसमें बिशप के देशभर के अनेक धार्मिक संस्थाओं को 2 करोड़ 72 लाख रुपये की राशि  अलग-अलग खातों में स्थानांतरित करने के सबूत मिले थे. उसके बाद मुकदमा दर्ज करते हुए ईओडब्ल्यू ने अपनी जांच के दायरे को बढ़ाया था.

आज हो सकता है बड़ा खुलासा
बिशप के घर से 1 करोड़ से अधिक भारतीय करंसी, डॉलर और पौंड भी मिला था जिसके बाद नित नए खुलासे हो रहे थे. बिशप पी सी सिंह के घर जब ईओडब्ल्यू ने छापा मारा तब वो जर्मनी गया था. जर्मनी से भारत लौटने पर ईओडब्ल्यू ने सीआरपीएफ की मदद से बिशप को नागपुर एयरपोर्ट से दबोच लिया था. फिलहाल ईओडब्ल्यू को मिली बिशप की 4 दिन की रिमांड आज शाम खत्म हो रही है. ऐसे में ईओडब्ल्यू भी देर शाम तक बड़ा खुलासा कर सकता है.

ये भी पढ़ें- सितारे ज़मीं पर : क्रिकेट के दिग्गद सचिन तेंदुलकर, लारा, ब्रेट ली, शेन वॉटसन सब एक साथ आए हैं यहां

फेमा में फंसा बिशप
इस बीच ईडी ने फेमा के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है. जबकि पीएमएलए यानि प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत भी एक और मुकदमा ईडी दर्ज कर सकती है. स्पष्ट है कि अब तक की जांच में बिशप को अलग-अलग खातों में आए विदेशी फंड के सुबूत भी ED और ईओडब्ल्यू को मिल गए हैं. इतना ही नहीं हवाला की रकम की हेरफेर का भी आईडी को अंदेशा है. इसलिए एक और नई f.i.r. बिशप पीसी सिंह पर दर्ज हो सकती है.

Tags: Jabalpur news, Madhya pradesh latest news



Source link