एक्टर आयुष्मान खुराना को है अजीब बीमारी, जानिए क्या होता है Vertigo और क्या है इसके लक्षण – actor ayushmann khurrana suffering from vertigo know disease causes symptoms and treatment in hindi – News18 हिंदी


हाइलाइट्स

वर्टिगो में इस तरह से सेंशेन होता है जिसमें लगता है कि आप या आपके आसपास का कमरा घूम रहा है.
आयुष्मान खुराना कहते हैं, “मेरे विचार में इसके लिए मेडिटेशन बहुत मदद करता है.”

What is Vertigo: विकी डोनर फेम अभिनेता आयुष्मान खुराना ने हाल ही में एक टीवी चैनल के कार्यक्रम खुलासा किया कि उन्हें वर्टिगो है. आयुष्मान खुराना ने बताया कि इस वर्टिगो के कारण उन्हें कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. फिल्मों में खास तरह की सीन करने में इस वर्टिगो की वजह से बहुत परेशानी होती है. इस स्थिति में उस सीन को कैंसिल तक करना पड़ता है. आयुष्मान ने बताया कि उन्हें वर्टिगो की परेशानी पिछले 6 साल से है. आयुष्मान ने यह भी बताया कि वे इस बीमारी से किस तरह बाहर आने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने बताया, “सबसे पहली बात कि इसमें दवाई का सबसे अधिक महत्व है क्योंकि जब आप सोकर उठते हैं तो आपका सिर घूमता हुआ महसूस होता है. हम लोगों के प्रोफेशन में स्क्रिप्ट की डिमांड बिल्डिंग से कूदने की भी होती है. उस स्थिति में मुश्किल हो जाता है क्योंकि इसमें ध्यान का ठीक होना बहुत जरूरी है. हालांकि मेरे विचार में इसके लिए मेडिटेशन बहुत मदद करता है.”

इसे भी पढ़ें- 5 खतरनाक बैक्टीरिया ने देश में 6.8 लाख लोगों की ले ली जान, जानिए कौन सी बीमारी फैलाती हैं ये और क्या है बचने के उपाय

वर्टिगो क्या है What is Vertigo
इंडियन एक्सप्रेस की खबर में इंटरनल मेडिसीन के डॉ संजय गुप्ता बताते हैं कि वर्टिगो स्थिति के बजाय एक लक्षण है. वर्टिगो में इस तरह से सेंशेन होता है जिसमें लगता है कि आप या आपके आसपास का कमरा घूम रहा है. आप इसमें बहुत ही असहनीय महसूस करते हैं और खड़े-खड़े गिर जाते हैं. आमतौर पर इसमें अचानक से चक्कर आने लगते हैं और सिर घूमने लगता है. इसमें इंसान को सीधा खड़े होते ही सिर घूमता है और बॉडी का संतुलन बिगड़ जाता है. वर्टिगों में दिमाग में सब कुछ घुमता हुआ महसूस होता है. इस स्थिति में बैलेंस बनाना मुश्किल हो जाता है और तत्काल लेटना ही इसका तत्काल समाधान है.

वर्टिगों के लक्षण Symptoms of Vertigo
डॉ संजय गुप्ता ने बताया कि कई ऐसे लक्षण हैं जिन्हें लोगों को गंभीरता से लेना चाहिए. इसमें चक्कर आने के बाद शरीर का बैलेंस पूरी तरह बिगड़ जाता है. इसके साथ ही सिरदर्द, गिरना, चक्कर आना, बहरापन,आंखों में ध्यान केंद्रित करने में समस्या होना, कान में घंटी बजने का अहसास होना, जी मिचलाना और बॉडी में पानी की कमी हो सकता है.

वर्टिगो का इलाज Vertigo treatment
एक्सपर्ट के मुताबिक वर्टिगो का इलाज इस बात पर निर्भर करता है कि वर्टिगो हुआ किस कारण से है. वर्टिगो सेरिबैलम में ट्यूमर, मस्तिष्क में समस्याएं, कान की समस्याएं और सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस, सिर या गर्दन में चोट, झटका आदि कारण से हो सकते हैं. इसलिए पहले जांच से यह पता चलाया जाता है कि यह किस कारण हो रहा है. इसके बाद डॉक्टर उस खास स्थिति का इलाज करते हैं. मसलन यदि स्पोंडिलोसिस के कारण है तो इसके लिए हड्डी के डॉक्टर मरीज का इलाज करते हैं. कान से संबंधित परेशानियों में ईएनटी के डॉक्टर इलाज करेंगे.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle



Source link