कीवी, चेरी… समेत इन 5 फलों के बारे में जान लें, जो नेचुरल तरीके से कंट्रोल करते हैं यूरिक एसिड – kiwi to cherry these 5 fruits to control uric acid level naturally – News18 हिंदी


How to Control Uric Acid Naturally: शरीर में बढ़ा हुआ यूरिक एसिड कई तरह की समस्याओं को जन्म देने वाला होता है. इसके अलावा अगर आपके माता-पिता या बुजुर्ग शरीर में दर्द, एड़ियों-घुटनों में दर्द, गठिया की शिकायत कर रहे हैं तो ये बढ़े हुए यूरिक एसिड का लक्षण हो सकता है. खून में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने से शरीर को कई तरह की गंभीर बीमारियां घेर लेती हैं, ऐसे में इस बात का ख्याल रखना बेहद जरूरी है कि खून में यूरिक एसिड का संतुलन बना रहे. अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर ये कैसे होगा?

हेल्थशॉट्स के अनुसार कई अध्ययनों में पाया गया है कि हाई ब्लड प्रेशर और टाइप 2 डायबिटीज का यूरिक एसिड से भी संबंध होता है. इसलिए अगर आप अपने शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रित रखना चाहते हैं तो आपको प्यूरीन युक्त खाद्य पदार्थों से दूर रहना चाहिए. इनमें रेड मीट, सी फूड, सुअर का मांस, फूल गोभी और हरे मटर जैसे खाद्य शामिल हैं. इसके अलावा हम आपको यहां ऐसे कुछ फलों के बारे में भी बताने जा रहे हैं, जो यूरिक एसिड के लेवल को कम करने में मदद करते हैं.

कीवी: कीवी शरीर को कई तरह के स्वास्थ्य लाभ देता है. यह पोटेशियम, फोलेट, विटामिन ई और विटामिन सी से भी भरपूर होता है, जो ना केवल यूरिक एसिड को कंट्रोल करता है बल्कि पेट संबंधी समस्यों को भी दूर रखता है.

सेब: हाई फाइबर से भरपूर सेब यूरिक एसिड के स्तर को कंट्रोल करने में भी बहुत फायदेमंद होता है. फाइबर, खून से अतिरिक्त यूरिक एसिड को अलग करने में मदद करता है. इसके अलावा सेब मैलिक एसिड का भी पावरहाउस है, जो यूरिक एसिड के प्रभाव को बेअसर करने में मदद करता है.

Erectile Dysfunction: तनाव से पुरुषों में बढ़ सकती है नपुंसकता, जानें क्या है इसका कारण

चैरी: एंथोसायनिन, एक प्राकृतिक एंटी-इंफ्लेमेटरी कम्पोनेंट है, जो चैरी में मौजूद होता है. यूरिक एसिड करने में यह कम्पोनेंट बेहद मददगार होता है. एंथोसायनिन के अलावा, चेरी में फाइबर और विटामिन सी भी भरपूर मात्रा में उपलब्ध होता है.

संतरे: संतरे या अन्य किसी भी खट्टे फल में विटामिन सी और साइट्रिक एसिड होता है. ये खून से अतिरिक्त किसी भी टॉक्सिन को अलग करने में मदद करता है. इसी तरह यह शरीर से यूरिक एसिड के स्तर को भी नियंत्रित करता है.

केले: केले की खासियत ये है कि इसमें प्यूरीन काफी कम मात्रा में और विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है. जो ऐसे लोगों के लिए वरदान है, जो गाउट की समस्या से परेशान हैं. केले जैसे कम प्यूरीन वाले खाद्य पदार्थों को अपने आहार में शामिल करकरके आप यूरिक एसिड से भी छुटकारा मिलता है.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle



Source link