कोटा में पैंथर ने फिर फैलाई दहशत: 40 घंटे से महल में स्थित स्कूल में छिपकर बैठा है, पढ़ें अपडेट

कोटा में पैंथर ने फिर फैलाई दहशत: 40 घंटे से महल में स्थित स्कूल में छिपकर बैठा है, पढ़ें अपडेट


हाइलाइट्स

कोटा के नांता इलाके में स्थित है यह पुराना महल
कोचिंग सिटी कोटा में पिछले दिनों पैंथर एक घर में घुस गया था
कोटा सिटी में पैंथर की मौजदूगी से पूरे इलाके में हड़कंप मचा हुआ है

कोटा. कोचिंग सिटी कोटा (Coaching city kota) में एक बार फिर से एक पैंथर (Panther ) दहशत फैला दी है. इस बार पैंथर ने एक सरकारी स्कूल पर कब्जा कर लिया है. यह स्कूल एक पुराने महल में स्थित है. करीब 40 घंटे के बाद भी पैंथर को रेस्क्यू नहीं किया जा सका है. आबादी क्षेत्र के स्कूल में पैंथर की मौजूदगी से इलाके में हड़कंप मचा हुआ है. स्थानीय लोगों की नींद हराम हो रखी है. पैंथर को पकड़ने के लिए ड्रोन कैमरे की मदद से उसकी लोकेशन तलाशी जा रही है. वहीं उसे पिंजरे में डालने के लिए मछलियों और मुर्गों का लालच दिया जा रहा है. लेकिन पैंथर है कि स्कूल से बाहर आने का नाम नहीं ले रहा है. बहरहाल रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है.

जानकारी स्कूल में पैंथर के घुसने का मामला कोटा के नान्ता इलाके से जुड़ा है. नांता में स्थित एक पुराने महल में सरकारी स्कूल संचालित होती है. यह महल काफी बड़ा है. इसमें गुरुवार देर रात को एक पैंथर की मौजूदगी देखी गई. उसके बाद इलाके में हड़कंप मच गया. सूचना मिलने पर पुलिस और वन्य जीव विभाग की टीम भी मौके पर पहुंची. लेकिन वन्यजीव विभाग की टीम को पैंथर के पग मार्ग नहीं मिल पाए. लेकिन बताया जा रहा है कि नांता के बुर्ज पर खड़े पैंथर का किसी शख्स ने वीडियो बनाया था. इसके बाद से ही इलाके के लोगों में पैंथर की दहशत हो गई.

पैंथर की दहशत: कोटा में 3 घंटे तक मचाए रखा हड़कंप, घर के किचन में घुसकर स्लैब पर सो गया 

आपके शहर से (कोटा)

30 घंटों के बाद भी पैंथर का कुछ पता नहीं चल पाया है
वन्यजीव अधिकारी बुधराम जाट ने बताया कि शुक्रवार को सुबह पैंथर को पकड़ने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया गया था. महलनुमा स्कूल में घुसे पैंथर की लोकेशन तलाशने के लिए ड्रोन कैमरे की मदद ली जा रही है. लेकिन करीब 30 घंटों के बाद भी पैंथर का कुछ पता नहीं चल पाया है कि वह इस महल में कहां बैठा है. इससे पहले शुक्रवार रात को पूरे इलाके में रातभर हेलोजन लाइट लगाकर पैंथर के डर के चलते पहरेदारी की गई.

पिंजरों में मुर्गें और मछलियां रखकर शिकार का लालच दिया जा रहा है
वहीं पैंथर को पकड़ने के लिए अलग-अलग पिंजरों में मुर्गें और मछलियां रखकर शिकार का लालच दिया जा रहा है. डर और दहशत के माहौल में लोग छतों पर टकटकी लगाए लगाए बैठे हैं. वहीं पूरे इलाके में लोगों से झुंड के साथ पहरेदारी कर सतर्क रहने की अपील की जा रही है. महल में स्थित स्कूल के बच्चों को पास के दूसरे सरकारी भवन में शिफ्ट किया गया है. वन विभाग की टीम ने शनिवार को सुबह फिर पैंथर को ट्रेंकुलाइज करने के लिए एंक्लोजर लगाया है. आसपास के इलाके में भी निगरानी की जा रही है.

Tags: Kota news, Leopard, Rajasthan news, Wildlife news in hindi



Source link