क्या सफेद दांतों के लिए हाइड्रोजन पेरॉक्साइड का उपयोग सुरक्षित है ? जानिए यहां


हाइलाइट्स

हाइड्रोजन पेरॉक्साइड दांतों का पीलापन चुटकियों में खत्म कर सकता है
हाइड्रोजन पेरॉक्साइड की मात्रा कम होने पर प्रयोग में खतरा नहीं है.
यह एक एंटीसेप्टिक क्लीनिंग प्रोडक्ट में प्रयोग होने वाला प्रभावी केमिकल है.

Hydrogen Peroxide for Teeth : आपने दांतों का पीलापन हटाने के लिए कई ओरल प्रोडक्ट्स के बारे में सुना होगा, और उन्हें आजमाने का विचार भी आया होगा जो दांतों में चमक लाने का दावा करते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं, उन सभी प्रोडक्ट्स में अधिकतर हाइड्रोजन पेरॉक्साइड मौजूद होता है, जैसे  टूथपेस्ट, माउथवॉश और टीथ ब्लीचिंग प्रोडक्ट्स. हाइड्रोजन पेरॉक्साइड एंटीसेप्टिक क्लीनिंग प्रोडक्ट्स में प्रयोग होने वाला एक ऐसा प्रभावशाली केमिकल है जो बेकिंग सोडा जैसे प्रोडक्ट के साथ घुल कर दांतों और मसूड़ों की सफाई में इस्तेमाल किया जाता है. अगर आप भी अपने दांतों में हाइड्रोजन पेरॉक्साइड का इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो ध्यानपूर्वक और सहजता से प्रयोग करना चाहिए. आइए जानते हैं, हाइड्रोजन पेरॉक्साइड  का प्रयोग दांतों के लिए कितना सुरक्षित है.

सफेद दांतों के लिए हाइड्रोजन पेरॉक्साइड का इस्तेमाल :
– हेल्थ डॉट कॉम के अनुसार अधिकतर टूथपेस्ट में हाइड्रोजन पेरॉक्साइड की संतुलित मात्रा मौजूद होती है. इसलिए इन प्रोडक्ट्स को दांतों और मसूड़ों के लिए प्रयोग करने में कोई खतरा नहीं है क्योंकि यह केमिकल जब दांतों के सर्फेस पर आते हैं तो वहां लगे दाग को मिटाकर सफेदी लाते हैं, लेकिन इसे जरूरत से ज्यादा प्रयोग करने पर दांतों और मसूड़ों को नुकसान भी पहुंचने की आशंका होती है.

– डेंटल प्रोडक्ट्स में हाइड्रोजन पेरॉक्साइड की मात्रा कम रखी जानी चाहिए ताकि इसकी क्षमता जरूरत से अधिक न हो और प्रोडक्ट से कोई साइड इफेक्ट न हो. हाइड्रोजन पेरॉक्साइड बैक्टीरिया को मिटाने में सहायक होते हैं जिसके कारण दांतों और मसूड़ों के हेल्थ में सुधार आता है और फिर दांतों में सफेदी भी आती है.
– किसी भी केमिकल प्रोडक्ट्स खास तौर पर हाइड्रोजन पेरॉक्साइड से बनें प्रोडक्ट्स को प्रयोग करते समय इस बात का ध्यान अवश्य रखें की यदि आप अपने दांतों और मसूड़ों में इनका प्रयोग करके दांतों को सफेद करने में सफल हो चुके हैं, तो इस प्रक्रिया को दोबारा करने के लिए कम से कम 6 से 12 महीना अवश्य रुकें.
– यदि आप हाइड्रोजन पेरॉक्साइड की सहायता से घरेलू तौर पर व्हाइटनिंग प्रोडक्ट तैयार कर रहें हैं तो ध्यान रखें की केमिकल का कंसंट्रेशन अधिक न रखें, ऐसा नहीं करने पर आपके मसूड़ों में ढेरों परेशानियां पैदा हो सकती है.

‘चिकन‍ स्किन’ प्रॉब्‍लम से जूझ रहे हैं, तो जानें इसकी वजह, इसे रोकने के घरेलू उपाय

10 मिनट में चेहरे पर लाना है ग्‍लो, तो घर पर करें ‘बनाना फेशियल’, यहां जानें तरीका

Tags: Health, Lifestyle, Tips and Tricks



Source link