टी20 वर्ल्ड कप: ऑस्ट्रेलिया मजबूत दावेदार, लेकिन इंग्लैंड को कम आंकना हो सकती है भूल


नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया में 16 अक्टूबर से शुरू हो रहे टी20 विश्व कप में अब सिर्फ 22 दिन शेष हैं. 13 नवंबर तक चलने वाले इस क्रिकेट महाकुंभ में 16 टीमें आमने-सामने होंगी. 29 दिनों के इस संग्राम में कुल 45 मैच खेले जाएंगे और फिर मिलेगा विश्व क्रिकेट को टी20 का नया चैम्पियन. 16 में से 15 देशों ने अपनी टीम का ऐलान कर दिया है, हालांकि क्रिकेट के जानकारों ने टॉप आठ देशों में ऑस्ट्रेलिया को अपनी पहली पसंद माना है. उन्हें उम्मीद है कि घरेलू मैदान पर टीम खिताब को बचाने में सफल होगी.

इसके अलावा इंग्लैंड भी प्रबल दावेदार है. 2010 की टी20 चैम्पियन टीम इंग्लैंड ने भी क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट को खेलने का अपना तरीका बदला है और उन्हें भी कमतर आंकना भूल होगी. ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड की टीम में ऑलराउंडर्स की भरमार और यही वजह है कि टी20 वर्ल्ड कप जीतने वाली संभावित टीमों में इन दोनों देशों का नाम पहले और दूसरे पायदान पर है. तो आइए जानते हैं ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड की मजबूती और कमजोरी…

टी20 की सभी टीमों में ऑस्ट्रेलिया सबसे अनुभवी
ऑस्ट्रेलिया के पास डेविड वॉर्नर और ग्लेन मैक्सवेल जैसे अनुभवी खिलाड़ियों की फौज है. इसके साथ ही मिशेल मार्श, मार्कस स्टोइनिस, मैथ्यू वेड जैसे खिलाड़ी टीम की बल्लेबाजी की धार को और भी मजबूत करने का काम करते हैं. मिडिल ऑर्डर को मजबूती देने के लिए बिग हिटर के तौर पर टिम डेविड को टीम में स्थान दिया गया है.

जसप्रीत बुमराह या शाहीन अफरीदी? जानें रिकी पोंटिंग की नजरों में ऑस्ट्रेलियाई पिच पर कौन होगा बेहतर

गेंदबाजी में मिचेल स्टार्क, जोश हेजलवुड और पैट कमिंस के होने से ऑस्ट्रेलिया विरोधी टीमों के बल्लेबाजों पर भारी है. एडम जाम्पा की लेग स्पिन भी टीम में अहम भूमिका निभा सकती है. टीम के पास ऑलराउंडर्स की भी अच्छी संख्या है जो गेंदबाजी के साथ-साथ बल्लेबाजी भी बखूबी करते हैं. मैक्सवेल, मिशेल मार्श, मार्कस स्टोइनिस, टिम डेविड, ऐश्टन एगर के रूप में टीम के पास हरफनमौला खिलाड़ी हैं, जो कभी भी मैच का रुख मोड़ने की ताकत रखते हैं.

इंग्लैंड के पास खेल का रुख बदलने वाले खिलाड़ी
इंग्लैंड में डेविड मलान और बेन स्टोक्स जैसे खिलाड़ियों की मौजूदगी टीम को मजबूत बनाती है. लेकिन सबसे अधिक चर्चा हो रही है तीन साल बाद टीम में वापसी कर रहे एलेक्स हेल्स की. वे कितने खतरनाक साबित हो सकते हैं, उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ पहले टी20 मैच में दिखा दिया.

मार्क वुड और क्रिस वोक्स गेंदबाजी आक्रमण में इंग्लैंड की कमान संभालेंगे. क्रिस जॉर्डन भी टीम के बॉलिंग को गहराई देते हैं. वहीं, बेन स्टोक्स, लियाम लिविंगस्टोन, मोइन अली, क्रिस वोक्स और सैम करेन जैसे ऑलराउंडर्स इंग्लैंड को विश्व कप जीतने की दिशा में प्रबल दावेदार बनाते हैं.

Tags: Australia, England, T20 World Cup, T20 World Cup 2022



Source link