पंजाब में शुरू हुआ ई-सेनानी पोर्टल, इन लोगों के ऑनलाइन बनाए जाएंगे पहचान पत्र

पंजाब में शुरू हुआ ई-सेनानी पोर्टल, इन लोगों के ऑनलाइन बनाए जाएंगे पहचान पत्र


चंडीगढ़. पंजाब में अब पूर्व फौजी घर बैठे ही ऑनलाइन सेवाओं की सुविधा ले सकेंगे. इसके लिए राज्‍य सरकार ने ई-सेनानी पोर्टल की शुरुआत की है. इस पर न केवल पूर्व सैनिकों के बल्कि पूर्व सैनिकों की विधवाओं और उनके आश्रितों के ऑनलाइन पहचान पत्र बनवाए जा सकेंगे.

शुक्रवार को रक्षा सेवा कल्याण मंत्री फौजा सिंह सरारी ने चंडीगढ़ में रक्षा कर्मियों की सुविधा के लिए नया वैब पोर्टल ई-सेनानी लांच करते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी की सरकार देश वासियों की सुरक्षा के लिए मुश्किल घड़ी में कीमती योगदान देने वाले रक्षा सैनिकों के साथ-साथ आम नागरिकों की भलाई के लिए काम कर रही है.

इस मौके पर बोलते हुये राज्य के रक्षा सेवा मंत्री ने कहा कि आप सरकार ने देश में अलग-अलग फौजी ऑपरेशनों के दौरान अपनी जानें गवाने वाले शहीद रक्षा सैनिकों के आश्रितों को एक-एक करोड़ रुपए का मुआवजा देने का ऐतिहासिक फैसला लागू किया है. इसके इलावा अलग-अलग वर्गों के पूर्व सैनिकों, जंगी विधवाओं, पूर्व सैनिकों की विधवाओं और उनके आश्रित परिवारों के लिए अलग-अलग कल्याण स्कीमें और वित्तीय सहायता भी उपलब्ध करवाई गई है.

आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

राज्य चुनें

दिल्ली-एनसीआर

राज्य चुनें

दिल्ली-एनसीआर

पूर्व सैनिकों के लिए शुरू की गई ऑनलाइन सेवा संबंधी अतिरिक्त जानकारी देते हुये फौजा सिंह सरारी ने बताया कि इससे पहले पूर्व सैनिकों को अपनी जिंदगी के मुश्किल दौर में लाभार्थी सेवाएं लेने के लिए सम्बन्धित जिला सुरक्षा सेवा कल्याण दफ्तरों में जाना पड़ता था लेकिन अब वह अपने घर बैठे या विदेशों से भी जरूरी दस्तावेज अपलोड करके कोई भी सेवा ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं. इसके इलावा, पूर्व सैनिक और उनके आश्रित राज्य सरकार की तरफ से रक्षा सेवाओं की अलग अलग श्रेणियों की नौकरियों के लिए आवेदन कर सकते हैं.

मंत्री ने आगे बताया कि रक्षा सेवाओं की श्रेणियों के लाभार्थी शहीदों और दिव्यांग सैनिकों के नजदीकी रिश्तेदारों को एक्स-ग्रेशिया ग्रांटें, गैलेंटरी और डिस्टिंगुइश्‍ड अवार्ड प्राप्त करने वालों (सिवलियनों) को नकद पुरुस्कारों की ग्रांट और लीनल वंशज या पूर्व सैनिकों को नौकरी के लिए सर्टिफिकेट जारी करने सम्बन्धी सेवाएं प्राप्त कर सकते हैं. उन्होंने आगे कहा कि वैब पोर्टल www.dsw.punjab.gov.in
पर एक विशेष ई-सेनानी विंडो उपलब्ध करवाई गई है जहां पूर्व सैनिक और विधवाएं पहचान पत्र प्राप्त करने के लिए स्वयं को ऑनलाइन रजिस्टर कर सकती हैं.

यह ऑनलाइन वेब पोर्टल राज्य सरकार के साथ- के साथ रक्षा सेवाओं के लिए भी लाभदायक होगा क्योंकि राज्य में पूर्व सैनिकों और फौजी परिवारों द्वारा दी जाती सेवाओं से सम्बन्धित सभी विवरण केवल एक बटन क्लिक करने पर उपलब्ध हो जाएंगे.

Tags: CM Bhagwant Mann, Punjab news



Source link