रेलवे ने बीते 16 महीने में हर तीन दिन में एक ‘निकम्मे या भ्रष्ट’ अधिकारी को बर्खास्त किया

रेलवे ने बीते 16 महीने में हर तीन दिन में एक ‘निकम्मे या भ्रष्ट’ अधिकारी को बर्खास्त किया


नई दिल्ली. रेलवे ने बीते 16 महीने में हर तीन दिन में एक “निकम्मे या भ्रष्ट अधिकारी” को बर्खास्त किया है. इसके अलावा 139 अधिकारियों पर स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए दबाव डाला जा रहा है जबकि 38 को हटा दिया गया है. सूत्रों ने इसकी जानकारी दी. सूत्रों ने बताया कि बुधवार को वरिष्ठ स्तर के दो अधिकारियों को हटाया गया. उन्होंने कहा कि इनमें से एक को केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने हैदराबाद में पांच लाख रुपये की रिश्वत के साथ जबकि दूसरे को रांची में 3 लाख रुपये के साथ पकड़ा था.

एक अधिकारी ने कहा, “(रेलवे) मंत्री (अश्विनी वैष्णव) ‘काम करो नहीं तो हटो’ के अपने संदेश के बारे में बहुत स्पष्ट हैं। हमने जुलाई 2021 से हर तीन दिन में रेलवे के एक भ्रष्ट अधिकारी को बाहर किया है.” रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने हाल ही में रेल कर्मचारियों के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी दी है. रेल मंत्री ने रेलवे के सुपरवाइजर ग्रेड यानी ग्रेड 7 के अंतर्गत आने वाले रेलवे के 80 हजार कर्मचारियों के लिए खुशखबरी दी थी.

रेल मंत्री ने एक प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि प्रमोशन को लेकर होने वाली समस्या को दूर कर लिया गया है. रेल मंत्री ने बताया कि रेलवे में अस्सी हजार का कैडर है, जो रेलवे की रीढ़ है. रेल मंत्री ने कहा था कि इसमें स्टैनगेशन की समस्या बनी हुई थी, यानी उनको प्रमोशन नहीं मिल पाता था. इस समस्या का हल हो गया है. सुपरवाइजर ग्रेड को अब प्रमोट करने का तरीका निकाला गया है. रेल मंत्री ने बताया कि अब लेवल 6 के कर्मचारी लेवल 7 और 8 तक पहुंच सकेंगे और कुछ लोग लेवल 9 तक भी पहुंच सकेंगे.

Tags: Indian Railway news



Source link