शहतूत खाएंगे अधिक तो कम हो जाएगा शुगर लेवल, किडनी के साथ सेहत को होंगे ये बड़े नुकसान


हाइलाइट्स

शहतूत अधिक खाने से अपच, मतली, डायरिया, ब्लोटिंग जैसी समस्याएं हो सकती हैं.
किडनी संबंधित कोई समस्या है, तो भी शहतूत के सेवन से बचना चाहिए.

Side Effects of Mulberry: शहतूत एक रसीला और स्वाद में खट्टा-मीठा फल है. शहतूत के कई रंग होते हैं जैसे काले, बैंगनी, गुलाबी, नीला. यह फल दिखता भी बेहद खूबसूरत है. इसके सेवन से शरीर के कई अंगों को लाभ होता है. यह त्वचा, बाल से लेकर किडनी, लिवर तक के लिए हेल्दी माना जाता है. पोषक तत्वों की बात करें तो इसमें फाइबर, प्रोटीन, पानी, कैल्शियम, फॉस्फोरस, जिंक, पोटैशियम, आयरन, विटामिन सी, विटामिन के, विटामिन ए, ई, मैग्नीशियम, एंटीऑक्सीडेंट्स, राइबोफ्लेविन आदि भरपूर होते हैं. यदि इस फल का सेवन सीमित मात्रा में किया जाए, तो आप कई गंभीर रोगों से भी बचे रह सकते हैं. यदि आप शहतूत का सेवन प्रतिदिन अधिक मात्रा में करेंगे तो यह लाभ की बजाय सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है. आइए जानते हैं शहतूत के अधिक सेवन से क्या-क्या गंभीर नुकसान हो सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: विटामिन C, आयरन से भरपूर शहतूत में है गुणों का ‘खज़ाना’, पढ़ें, इस फल से जुड़ी कई रोचक बातें

शहतूत खाने के नुकसान

  • स्टाइलक्रेज डॉट कॉम में छपी एक खबर के अनुसार, यदि बहुत ज्यादा शहतूत का सेवन किया जाए, तो यह हानिकारक हो सकता है. यह शुगर लेवल को खतरनाक तरीके से कम कर सकता है. यह देखा गया है कि शहतूत हाइपोग्लाइसीमिया के खतरे को बढ़ाता है. शहतूत की पत्तियों का एक्सट्रैक्ट शुगर लेवल को तेजी से कम कर देता है. ये अर्क कार्बोहाइड्रेट डाइजेशन में देरी कर सकते हैं, जिससे रक्त शर्करा के स्तर में अचानक गिरावट आ सकती है. खासकर वे लोग इसके सेवन से बचें, जो पहले से ही डायबिटीज के मरीज हैं और इसकी दवा ले रहे हैं. शहतूत के अर्क से बने सप्लीमेंट्स के सेवन से पहले आप एक्सपर्ट की राय ज़रूर ले लें.

इसे भी पढ़ें: विटामिन C, आयरन से भरपूर शहतूत में है गुणों का ‘खज़ाना’, पढ़ें, इस फल से जुड़ी कई रोचक बातें

  • यदि आप बहुत ज्यादा शहतूत का सेवन एक दिन में करते हैं, तो इससे आपको अपच, मतली, डायरिया, ब्लोटिंग जैसी समस्या हो सकती है. एक स्टडी के अनुसार, जो लोग डिस्लिपिडेमिया (Dyslipidemia)के इलाज में शहतूत की पत्तियों से तैयार टैबलेट का सेवन किया उनमें माइल्ड डायरिया, चक्कर आना, ब्लोटिंग, कब्ज जैसी समस्याएं देखने को मिलीं.

इसे भी पढ़ें: क्या कभी स्किन केयर के लिए इस्तेमाल किया है शहतूत? जानें त्वचा पर इसके फायदे

  • जिन लोगों को किडनी संबंधित कोई समस्या है, उन्हें शहतूत के सेवन से बचना चाहिए. शहतूत के पत्ते यूरिक एसिड के स्तर को कम करते हैं, जिससे गठिया के लक्षणों को दूर करने में मदद मिलती है. ऐसे में यदि आप पहले से ही यूरिक एसिड लेवल को कम करने के लिए किसी तरह की दवाई खा रहे हैं, तो शहतूत के पत्ते और इसके अर्क के सेवन से बचें. शहतूत में पोटैशियम भी काफी अधिक होता है, ऐसे में अधिक पोटैशियम से आंतरिक ब्लीडिंग, डिहाइड्रेशन, थकान, मतली, सीने में दर्द, इर्रेगुलर हार्टबीट्स, धड़कनों का कम होना आदि समस्याएं हो सकती हैं. ऐसे में जिन लोगों को क्रोनिक किडनी डिजीज है, वे शहतूत बिल्कुल भी ना खाएं.

  • यदि आप त्वचा पर शहतूत के अर्क का इस्तेमाल करते हैं, तो इसके भी नुकसान हो सकते हैं. इसमें कार्सिनोजेनिक दुष्प्रभाव होते हैं, जिससे गर्भपात भी हो सकता है. कुछ लोगों में स्किन एलर्जी भी देखी जा सकती है.
  • शहतूत कार्बोहाइड्रेट के एब्जॉर्प्शन को भी बाधित करती है. शरीर में सही से कार्बोहाइड्रेट का एब्जॉर्प्शन हो, तो इससे वजन और डायबिटीज कंट्रोल रखने में मदद मिलती है.

Tags: Health, Lifestyle



Source link