शुगर के मरीज त्योहारों में मीठे की क्रेविंग को शांत करने के लिए ट्राई करें ये फूड्स


हाइलाइट्स

शुगर के मरीज डेट्स का चुनाव कर सकते हैं.
फ्रूट्स में होता है नेचुरल शुगर जो पहुंचाता है फायदा.
योगर्ट से भी की जा सकती है मीठा खाने की क्रेविंग को शांत.

How To Control Sweet Cravings: त्‍योहारों में बढ़िया मिठाई और जायकेदार व्‍यंजन देखकर हर किसी का मन ललचा जाता है. ऐसे में सबसे ज्‍यादा मुश्किल होती है शुगर मरीजों की. सबको मीठा खाता देख, उन्‍हें भी मीठे की क्रेविंग होने लगती है. डायबिटीज मरीज यदि ज्‍यादा मीठा खाते हैं तो उनके लिए परेशानी हो सकती है. शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने के लिए डाइट पर कंट्रोल होना ज़रूरी होता है, लेकिन अक्‍सर त्‍योहारों में डाइट फॉलो कर पाना मुश्‍किल हो जाता है. त्‍योहारों के मौसम में हेल्‍थ को नजरअंदाज करना बिल्‍कुल भी ठीक नहीं है, लेकिन मन को मारना भी सेहत पर प्रभाव डाल सकता है. तो ऐसे में कुछ उपाय हैं जिनको अपनाकर शुगर मरीज भी मीठे की क्रेविंग को शांत कर सकते हैं और त्‍योहारों का भरपूर आनंद उठा सकते हैं.

डेट्स का करें सेवन
हेल्‍थलाइन के अनुसार, डेट्स बहुत न्‍यूट्रिशियस और हेल्‍दी होते हैं. ये एक ड्राई फ्रूट है. डेट्स में फाइबर, पोटैशियम, आयरन और प्‍लांट कंपाउंड्स होते हैं. कुछ डेट्स खाने से मीठे की क्रेविंग शांत हो सकती है और हेल्‍दी न्‍यूट्रिएंट्स भी प्राप्‍त हो सकेंगे. स्‍वीट और क्रंची ट्रीट के लिए डेट्स को बादाम जैसे नट्स के साथ भी खाया जा सकता है. डेट्स बहुत मीठे होते हैं, इसलिए एक बार में तीन से ज्‍यादा का सेवन करने से बचें.

स्‍वीट पोटैटो है बेहतर विकल्प
स्‍वीट पोटैटो जिसे शकरकंद भी कहते हैं, शरीर के लिए काफी फायदेमंद हो सकता है. इसमें कार्ब, फाइबर और विटामिन ए, विटामिन सी, पोटैशियम के साथ कई विटामिंस व मिनरल्‍स होते हैं. स्‍वीट पोटैटो कैलोरी का अच्‍छा सोर्स है और ये कार्विंग को शांत करने का अच्‍छा विकल्‍प हो सकता है. इसे रोस्‍ट कर नींबू और नमक के साथ स्‍वादिष्‍ट बनाया जा सकता है.



डार्क चॉकलेट है क्रेव स्‍वीट
स्‍वीट कार्विंग होने पर सबसे ज्‍यादा खाई जाने वाली चीज है चॉकलेट. डार्क चॉकलेट में 70 प्रतिशत कोकोआ होता है. इसमें हेल्‍दी प्‍लांट कंपाउंड पॉलीफेनॉल्‍स होते हैं, जिनमें एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं. यह हार्ट को हेल्‍दी बनाते हैं. रेगुलर चॉकलेट की तुलना में डार्क चॉकलेट में शुगर और फैट ज्‍यादा होता है, इसलिए खाते समय इसकी मात्रा का ध्‍यान रखना ज़रूरी है.

ये भी पढ़ें: फिट रहने की चाहत है तो ट्राई करें वॉटर एरोबिक्स, गर्मी से भी मिलेगी राहत

फल से बेहतर कुछ नहीं
कुछ मीठा खाने की इच्‍छा होने पर फलों का सेवन बेहतर हो सकता है. फल प्राकृतिक रूप से स्‍वीट होते हैं और इनमें बहुत सारे फायदेमंद प्‍लांट कंपाउंड्स और फाइबर भी होते हैं, जो हेल्‍थ को बेहतर रखने में मदद करते हैं. ज्‍यादा मीठा खाने की इच्‍छा होने पर कम मात्रा में आम और अंगूर जैसे फलों का सेवन किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: हाई बीपी से परेशान लोगों के लिए फायदेमंद है तुलसी की चाय, जानें एक दिन में कितनी बार पिएं

योगर्ट है हेल्‍दी स्‍नैक
योगर्ट प्रोटीन और कैल्शियम का बहुत अच्‍छा स्रोत है. योगर्ट के नियमित सेवन से भूख और कार्विंग दोनों को नियंत्रित किया जा सकता है. लाइव कल्‍चर वाला योगर्ट बहुत अच्‍छा होता है. इसमें शुगर की मात्रा कम होती है.

Tags: Diabetes, Food, Health, Lifestyle



Source link