शुगर के साथ मोटापे को भी कम करने में असरदार आयुर्वेदिक दवा, एम्‍स की शोध रिपोर्ट का दावा

शुगर के साथ मोटापे को भी कम करने में असरदार आयुर्वेदिक दवा, एम्‍स की शोध रिपोर्ट का दावा


नई दिल्ली. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने एक अध्ययन में कहा है कि शुगर के साथ साथ मोटापा कम करने में आयुर्वेदिक दवा असरदार है. मधुमेह की यह आयुर्वेदिक दवा वजन में कमी लाने के साथ-साथ शरीर के उपापचय (मेटाबॉलिज्म) तंत्र में भी सुधार करती है. मधुमेह रोगियों में मोटापा एक महत्वपूर्ण कारक के रूप में देखा गया है, जिसकी वजह से उन्हें कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

एम्स के फार्माकोलॉजी विभाग के प्रोफेसर डॉ. सुधीर कुमार सारंगी की निगरानी में तीन वर्ष तक चले इस गहन अध्ययन के परिणाम सामने आए हैं.

शोधार्थियों ने बताया कि अध्ययन के दौरान बीजीआर-34 को कई मधुमेह रोधी एलोपैथी दवाओं के साथ भी प्रयोग किया गया था, जिसमें यह देखने की कोशिश की गई कि क्या एलोपैथी दवाओं के साथ देने से नतीजे ज्यादा प्रभावी आते हैं या नहीं? इसके परिणाम काफी संतोषजनक रहे. शोध में पाया कि यह अकेले ही काफी कारगर है जो न सिर्फ रक्त में शुगर की मात्रा को कम करती है, बल्कि मोटापा में कमी लाना लाने में भी मदद करती है.

मार्च 2019 में शुरू हुए अध्ययन को लेकर शोधार्थियों ने बताया, ‘‘तीन वर्ष की अवधि में हर साल अलग अलग समूह के साथ अध्ययन किया गया था. इस दौरान हार्मोन प्रोफाइल, लिपिड प्रोफाइल, ट्राइग्लिसराइड्स का स्तर भी संतुलित पाया गया और लेप्टिन में कमी आई ‌जो शरीर में वसा को नियंत्रित करने में सहायक होता है. इसी तरह ट्राइग्लिसराइड्स एक खराब कोलेस्ट्रॉल है, जिसकी ज्यादा मात्रा शरीर के लिए नुकसानदायक होती है, लेकिन इसमें भी कमी दर्ज की गई है.

Tags: AIIMS, Aiims delhi



Source link