सीमा विवाद को सुलझाने के लिए दिल्ली में बैठक करेंगे असम और मिजोरम के मुख्यमंत्री

सीमा विवाद को सुलझाने के लिए दिल्ली में बैठक करेंगे असम और मिजोरम के मुख्यमंत्री


हाइलाइट्स

असम हाउस में मिजोरम के सीएम और मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा की मुलाकात होगी.
पिछले साल दोनों राज्यों के बीच सीमा विवाद को लेकर हिंसक झड़प हुई थी.
असम सरकार भी विवादों को सुलझाने के लिए मेघालय, नागालैंड और अरुणाचल प्रदेश के साथ काम कर रही है.

नई दिल्ली. लंबे समय से चले आ रहे सीमा विवाद को सुलझाने के सिलसिले में मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथांगा और असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा दोनों बुधवार को नई दिल्ली में बैठक करेंगे. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. मिजोरम के मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) के एक अधिकारी ने बताया कि जोरमथांगा और सरमा दोपहर एक बजे नई दिल्ली के असम हाउस में मिलेंगे. उन्होंने कहा कि मिजोरम योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष एच राममावी के जोरमथांगा के साथ बैठक में जाने की संभावना है. बैठक सोमवार को निर्धारित की गई थी, लेकिन इसे स्थगित करना पड़ा क्योंकि सरमा राष्ट्रीय राजधानी से अपने राज्य लौट आए थे.

सीमा मुद्दे पर दोनों मुख्यमंत्रियों के बीच इस तरह की यह दूसरी बैठक होगी. पिछले साल नवंबर में दोनों नेता केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में नई दिल्ली में मिले थे. मिजोरम के गृह विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि अगले महीने गुवाहाटी में होने वाली दोनों राज्यों के बीच मंत्री स्तरीय वार्ता के अगले दौर की तारीख अभी तय नहीं हुई है. असम प्रतिनिधिमंडल के साथ अगले दौर की बातचीत की तारीख अभी तय नहीं की गई है. इस मामले पर चर्चा नहीं हुई है. क्योंकि गृह मंत्री लालचमलियाना अभी बीमारी के कारण छुट्टी पर हैं. एक बार उनके पदभार ग्रहण करने के बाद इस पर चर्चा की जाएगी. तनावपूर्ण सीमा विवाद मामले में दोनों मंत्रियों की मुलाकात अगस्त 2021 में हुई थी.

पिछली बैठक में, दोनों पक्ष सीमा पर शांति बनाए रखने पर सहमत हुए और अक्टूबर में गुवाहाटी में फिर से मिलने का फैसला किया. मिजोरम असम के साथ 164.6 किलोमीटर लंबी सीमा साझा करता है. दोनों राज्यों के बीच सीमा विवाद लंबे समय से चला आ रहा है. मिजोरम 1972 तक असम का हिस्सा था. इसके बाद इसे केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया और फिर 1987 में यह एक राज्य बन गया. दोनों पड़ोसी राज्यों के बीच सीमा विवाद पिछले साल जुलाई में हिंसक हो गया था, जिसमें असम के छह पुलिसकर्मियों और एक नागरिक की मौत हो गई थी.

जब दोनों राज्यों के पुलिस बलों ने राष्ट्रीय राजमार्ग -306 पर वैरेंगटे गांव के पास विवादित इलाके में गोलीबारी की थी. लगभग एक महीने तक मिजोरम के NH-306 पर कछार जिले के लैलापुर गांव के निवासियों द्वारा आयोजित नाकेबंदी के बाद हुई हिंसक झड़प में लगभग 60 लोग घायल हो गए थे. दोनों पक्षों को मेज पर लाकर केंद्र के हस्तक्षेप से तनाव शांत हुआ. असम में सरमा की सरकार भी सीमा विवादों को सुलझाने के लिए मेघालय, नागालैंड और अरुणाचल प्रदेश के साथ काम कर रही है.

Tags: Assam-Mizoram



Source link