हेल्थ के लिए Black Tea और Green Tea दोनों ही हैं फायदेमंद, जानें इनके कॉमन बेनेफिट्स


हाइलाइट्स

ब्लैक और ग्रीन टी दोनों तरह की ही चाय ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करती हैं.
ग्रीन टी एंटीऑक्सीडेंट एपिगैलोकैटेचिन-3-गैलेट (ईजीसीजी) से भरपूर होती है.

Health Benefits of Green And Black Tea: अधिकांश लोगों को चाय पीना पसंद होता है. कई लोग तो इतने आदी होते हैं कि वे दिनभर में 4-5 कप दूध वाली चाय पी जाते हैं. कई बार तो लोग जब तक सुबह एक कप चाय नहीं पीते तब तक उनकी नींद भी ठीक से नहीं खुलती. हालांकि इस बीच कई लोग ब्लैक टी की जगह ग्रीन टी को तवज्जो देने लगे हैं. कई बार लोग ग्रीन टी का इस्तेमाल इस वजह से भी करते हैं क्योंकि यह वेट लॉस में भी मदद करती है, हालांकि ब्लैक टी भी हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होती है. ब्लैक और ग्रीन टी दोनों ही कैमेलिया साइनेसिस पौधे की पत्तियों से बनाई जाती है.

हेल्थलाइन की खबर के अनुसार दोनों चाय में अंतर यह होता है कि काली चाय ऑक्सीकृत होती है और हरी चाय ऑक्सीकृत नहीं होती. काली चाय बनाने के लिए, पत्तियों को पहले लपेटा जाता है और फिर ऑक्सीकरण हवा के संपर्क में लाया जाता है. इसी प्रक्रिया के कारण इसकी पत्तियां गहरे भूरे रंग की हो जाती हैं. आइए जानते हैं कि हमारे स्वास्थ्य के लिए कौन सी चाय ज्यादा फायदेमंद है.

ब्लैक टी और ग्रीन टी के कुछ कॉमन हेल्थ बेनेफिट्स है…

  • ब्लैक टी और ग्रीन टी दोनो में पॉलीफेनोल्स नामक एंटीऑक्सिडेंट पाया जाता है जो हमारे हार्ट की सुरक्षा के लिए काफी लाभदायक होता है.

  • ब्लैक और ग्रीन टी दोनों प्रकार की चाय में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने में भी मदद करती हैं.

  • कई अध्ययनों में यह पता चला है कि ब्लैक और ग्रीन टी दोनों तरह की ही चाय ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करती हैं.

  • ग्रीन टी को लेकर हुई एक स्टडी में यह भी पता चला कि जो लोग दिन में 1-3 कप ग्रीन टी पीते हैं उनमें दिल का दौरा पड़ने का जोखिम 19 से 36 प्रतिशत तक कम था.

  • इसी तरह दिन में कम से कम 3 कप ब्लैक टी पीने से दिल के दौरे का खतरा करीब 11 प्रतिशत तक कम हो सकता है.

डिजीज X क्या है? पैथोजन्स की लिस्ट तैयार करने के लिए WHO ने बनाई 300 वैज्ञानिकों की टीम

  • ग्रीन और ब्लैक टी दोनों में ही कैफीन पाई जाती है और यह दिमाग के लिए उत्तेजक का काम करती है. इसलिए जब भी आप थका हुआ महसूस करते हैं या फिर नींद आती है तो इसके सेवन से आप फ्रेश फील करने लगते हैं.

  • ग्रीन टी में ब्लैक टी की तुलना में कम कैफीन होती है. कैफीन मूड को एक्टिव करने वाले डोपामाइन और सेरोटोनिन जैसे हार्मोन के उत्पादन को तेज कर देता है.

  • हरी और काली चाय में एमिनो एसिड L-theanine भी होता है, जो कॉफी में मौजूद नहीं होता है. L-theanine हमेशा ही दिमाग को सतर्क मोड पर रखता है. हरी चाय में एल-थेनाइन थोड़ा अधिक होता है.

  • ग्रीन टी एंटीऑक्सीडेंट एपिगैलोकैटेचिन-3-गैलेट (ईजीसीजी) से भरपूर होती है. ग्रीन टी में अन्य पॉलीफेनोल्स होते हैं, जैसे कैटेचिन और गैलिक एसिड पाए जाते हैं.

  • स्टडी के मुताबिक ईजीसीजी कैंसर से बचाव में भी लाभकारी है. इसके साथ ही यह अल्जाइमर के जोखिमों को कम करता है.

Tags: Health, Lifestyle



Source link