Bengaluru News: तीन विधानसभा क्षेत्रों में मतदाताओं का डाटा चोरी, 3 अधिकारी निलंबित; जानें मामला

Bengaluru News: तीन विधानसभा क्षेत्रों में मतदाताओं का डाटा चोरी, 3 अधिकारी निलंबित; जानें मामला


हाइलाइट्स

बेंगलुरु में मतदाताओं को डाटा चोरी होने पर मचा बवाल
कांग्रेस की शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने लिया एक्शन
तीन अधिकारियों को किया निलंबित, हो सकती है बड़ी जांच

बेंगलुरु. कर्नाटक में चुनाव आयोग ने बड़ी कार्रवाई की है. कांग्रेस पार्टी की शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने वृहत बेंगलुरु महानगर पालिका के तीन निर्वाचन रजिस्ट्रेशन अधिकारियों को निलंबित कर दिया. दरअसल, कांग्रेस ने आरोप लगाया कि मतदाताओं का डाटा चोरी हो गया है. मतदाता सूची का डाटा निजी संस्था के नाम पर इकट्ठा किया गया. इसके बाद चुनाव आयोग ने जांच की. उसने तीन विधानसभा क्षेत्रों में मतदाता सूची में मतदाता के नाम हटाने-जोड़ने के सभी मामलों को दोबारा जांचने के निर्देश दिए.

गौरतलब है कि यहां हाल ही में उस वक्त बवाल मच गया था जब एक एनजीओ ने खुद को बूथस्तरीय अधिकारी बताकर मतदाताओं की निजी जानकारी जुटा ली थी. एनजीओ ने तीन विधानसभा क्षेत्रों शिवाजीनगर, चिकपेट और महादेवपुरा में यह हरकत की. इसकी शिकायत मिलते ही चुनाव आयोग हरकत में आया. उसने राज्य के मुख्य सचिव और सीईओ को सौ फीसदी जांच के आदेश दिए.

चुनाव आयोग ने कराई एफआईआर
चुनाव आयोग ने आधिकारिक बयान में कहा कि 17 नवंबर को उसे मीडिया रिपोर्ट के जरिये जानकारी मिली कि एक एनजीओ बेंगलुरु में मतदाता जागरूकता अभियान के नाम पर घर-घर जाकर उनका डाटा इकट्ठा कर रहा है. इसके अलावा यही शिकायत राजनीतिक पार्टियों की तरफ से भी की गई. इन शिकायतों के बाद इस मामले में दो एफआईआर दर्ज की गईं.

तीन विशेष अधिकारियों की नियुक्ति
जानकारी के मुताबिक, शिकायत दर्ज होते ही शिवाजीनगर और चिकपेट के प्रभारी और अतिरिक्त जिला निर्वाचन अधिकारी एस. रंगप्पा और महादेवपुरा के प्रभारी के. श्रीनिवास पर शिकंजा कस दिया गया. उनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश होने की संभावना है. इस घटना के बाद चुनाव आयोग ने तीनों विधानसभा क्षेत्रों के लिए तीन विशेष अधिकारियों की नियुक्ति की. यह अधिकारी मतदाता सूची में गड़बड़ी को रोककर उसे ठीक करेंगे.

Tags: Election commission, Karnataka News



Source link