Exclusive: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नामीबिया से लाई गई मादा चीता का रखा बेहद खास नाम

Exclusive: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नामीबिया से लाई गई मादा चीता का रखा बेहद खास नाम


भोपाल. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत में लुप्‍त हो गए चीता को फिर से अस्तित्‍व में लाने के लिए गंभीर रूप से प्रयासरत हैं. उन्‍हीं की कोशिशों का परिणाम है कि नामीबिया से 8 चीते भारत लाए गए हैं. पीएम मोदी ने अपने जन्‍मदिन के मौके पर इन चीतों को मध्‍य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में छोड़ा. इस मौके पर उन्‍होंने इनमें से एक मादा चीता का नामकरण भी किया है. पीएम मोदी ने नामीबिया से लाए गए 8 चीतों में से एक मादा चीता का नाम ‘आशा’ रखा है. भारत में विलुप्‍त हो चुके चीता को फिर से आबाद करने का प्रयास किया जा रहा है.

नामीबिया से लाए गए 8 चीतों को शनिवार को पीएम मोदी ने कूनो नेशनल पार्क में रिलीज़ किया. भारत में विलुप्‍त हो चुकी इस प्रजाति को फिर से आबाद करने का प्रयास है. जानकारी के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नामीबिया से लाई गई जिस मादा चीता का नामकरण किया है, उसकी उम्र 4 साल है. बता दें कि भारत में उतरने पर चीता को फ्रैंस इंडोंगो के रूप में जाना जाता था. Frans Indongo नामीबियाई बिजनेसमैन हैं जो एक लग्‍जरी गेम रिज़र्व के मालिक हैं. चीता को उनकी संपत्ति से ही पकड़ा गया था. चूंकि वह एक जंगली जानवर है, इसलिए जब उसको सीसीएफ सेंटर लाया गया तो उसका नाम नहीं था. CCF ने पीएम के जन्मदिन के तोहफे के तौर यह सम्मान प्रधानमंत्री के लिए सुरक्षित रखा था, ताकि पीएम मोदी इसका नाम रख सकें.

कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) में नामीबिया से लाए गए चीतों को चौबीस घंटे पूरे हो चुके हैं. पार्क प्रबंधन का कहना है कि रिलीज के बाद से वे बाड़े में सहज नजर आए. चीतों ने शिकार भी किया और अच्छे से नींद भी पूरी की है. पहले दिन चीते खुद को नए परिवेश में देकर थोड़े सहमे रहे. लेकिन उनका आचरण सामान्य और सकारात्मक दिखाई दिया है. बताया जा रहा है कि सभी चीते आराम से नेशनल पार्क में घू रहे हैं. कूनो नेशनल पार्क के प्रबंधन का कहना है कि फिलहाल सभी चीतों पर पैनी नजर रखी जा रही है.

Tags: Madhya pradesh news, Prime Minister Narendra Modi



Source link