National Milk Day 2022: कब मनाया जाता है नेशनल मिल्क डे? जानें इस दिन का महत्व और इतिहास – national milk day 2022 significance and history in india in hindi – News18 हिंदी


हाइलाइट्स

भारत में हर साल 26 नवंबर को नेशनल मिल्क डे मनाया जाता है.
इसी दिन मिल्कमैन ऑफ इंडिया वर्गीज कुरियन का जन्म हुआ था.
वर्गीज कुरियन की बदौलत ही देश में श्वेत क्रांति लाई गई थी.

India National milk day 2022- 26 नवंबर को हर साल भारत में ‘नेशनल मिल्क डे’ यानी दुग्ध दिवस मनाया जाता है. दूध की बात करें तो बच्चे के जन्म से लेकर बुढ़ापे तक हमारे शरीर को पोषण देने के मामले में यह मुख्य आहार बना हुआ है. भारत में श्वेत क्रांति के जनक और देश में दूध के उत्पादन को बढ़ावा देने वाले वर्गीज कुरियन का जन्म 26 नवंबर को हुआ था और उन्हीं को श्रद्धांजलि देने के लिए हर साल देश में दुग्ध दिवस मनाया जाता है. कुरियन ने दूध उत्पादन को बढ़ाने और डेयरी उत्पादन को प्रोत्साहित करने के लिए काफी योगदान दिया जिसके चलते उन्हें ‘मिल्कमैन ऑफ इंडिया’ भी कहा जाता है. इस दिन डेयरी उत्पादों और दूध के लाभों को जनता तक पहुंचाने के साथ साथ दुग्ध उत्पादन को बढ़ाने के लिए अभियान औऱ कायर्क्रम किए जाते हैं

ये भी पढ़ें: 5 खतरनाक बैक्टीरिया ने देश में 6.8 लाख लोगों की ले ली जान, जानें बचने के उपाय

जानें मिल्क डे का महत्व?
दूध की बात करें तो बच्चे पैदा होने के बाद से ही दूध पीना शुरू कर देते हैं. दूध हमारे शरीर के लिए कैल्श्यिम की पूर्ति करता है जो हड्डियों, दातों औऱ दिमाग के लिए बेहद जरूरी है. दूध दिवस मनाए जाने का महत्व इसलिए भी जरूरी है क्योंकि इस दिन दूध की शरीर के लिए उपयोगिता बताने वाले कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं और दूध उत्पादकों के महत्व को बताने वाले अभियान चलाए जाते हैं, जिससे जनता इनका महत्व समझ सके. 

क्या कहते हैं आंकड़े?
संयुक्त राष्ट्र के FO (खाद्य और कृषि संगठन) के आंकड़ों के अनुसार भारत विश्व में सबसे बड़ा दूध उत्पादक देश है और दुनिया भर के कुल दूध का 21 से 23 फीसदी भारत में उत्पादन होता है. भारत में श्वेत क्रांति के दूध के उत्पादन का काम सहकारी डेयरियों के जरिए किया गया और ये बेहद सफल संचालन रहा. इसका श्रेय वर्गीज कुरियन को जाता है और सहकारी डेयरी उत्पादन के काम ने दुनिया भर में सहकारी समितियों का झंडा बुलंद किया है. 26 नवंबर को भारत में मिल्क डे के रूप में मनाने का फैसला एनडीडीबी (राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड), आईडीए (इंडियन डेयरी एसोसिएशन)  समेत देश के बड़े  दुग्ध उत्पादन निकायों ने मिलकर किया था.

ये बातें जानना भी जरूरी
इस मौके पर देश  भर में कई तरह के कार्यक्रम किए जाते हैं. डेयरी उत्पादन और दूध के सेवन को बढ़ावा देने के लिए तरह-तरह के अभियान चलाए जाते हैं. इस दिन डेयरी उत्पादन को प्रोत्साहन देने के लिए सरकार भी अपने स्तर पर कई घोषणाएं करती हैं. दूध को यूं ही हमारे शरीर के लिए ऊर्जा का प्रमुख स्त्रोत नहीं कहा जाता. दूध को देखकर अगर आप भी नाक भौं सिकोड़ते हैं तो आपको दूध के ये फायदे जान लेने चाहिए. 

ये भी पढ़ें: सर्दियों में अदरक वाली चाय पीने के फायदे जानें, मिलेगा हेल्थ का डबल डोज

दूध से मिलने वाले फायदे
बच्चों के लिए दूध मुख्य आहार है क्योंकि ये छोटे बच्चों की बोन्स के निर्माण और मजबूती का काम करता है. दूध कैल्शियम की कमी को दूर करता है. दूध टेंशन, स्ट्रेस और अनिद्रा को दूर करता है. दूध शरीर को पर्याप्त ऊर्जा देता है. कब्ज को दूर करके दूध मेटाबॉलिज्म बढ़ाता है. थकान होने पर पिया गया दूध फिर से शरीर को वही स्फूर्ति प्रदान करता है.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Health, Lifestyle, Milk



Source link