Share Market में तीन दिन की तेजी के बाद शुक्रवार को सुस्ती, शुरुआती कारोबार में लुढ़के सेंसेक्स निफ्टी


Photo:FILE Sensex Nifty

भारतीय शेयर बाजार में शुक्रवार को बाजार की शुरुआत सुस्ती के साथ हुई। एशिया सहित दूसरे विदेशी बाजारों से आ रहे कमजोर संकेतों के चलते शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में प्रमुख शेयर सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी में गिरावट हुई और इसके साथ ही बाजारों में तीन दिन से जारी तेजी थम गई। 

100 अंक टूटा सेंसेक्स 

शुक्रवार के पहले दो घंटों के कारोबार के दौरान 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 101.03 अंक गिरकर 62,171.65 अंक पर आ गया। व्यापक एनएसई निफ्टी 24.20 अंक टूटकर 18,459.90 अंक पर था। सेंसेक्स में बजाज फाइनेंस, नेस्ले, एशियन पेंट्स, हिंदुस्तान यूनिलीवर, इंफोसिस, टाइटन, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस, पॉवर ग्रिड और आईटीसी गिरने वाले प्रमुख शेयरों में शामिल थे। दूसरी ओर लार्सन एंड टूब्रो, एक्सिस बैंक, इंडसइंड बैंक और एनटीपीसी में बढ़त हुई। 

एशियाई बाजारों में मिला जुला कारोबार 

अन्य एशियाई बाजारों में सियोल, तोक्यो और हांगकांग के बाजार नुकसान में कारोबार कर रहे थे जबकि शंघाई के बाजार लाभ में थे। अमेरिकी बाजार बृहस्पतिवार को बंद थे। पिछले सत्र में, बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 762.10 अंक यानी 1.24 प्रतिशत उछलकर 62,272.68 अंक के रिकॉर्ड उच्चस्तर पर बंद हुआ था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 216.85 अंक यानी 1.19 प्रतिशत की बढ़त के साथ 18,484.10 अंक पर बंद हुआ था। 

कच्चा तेल हुआ महंगा 

अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.23 फीसदी की बढ़त के साथ 85.54 डॉलर प्रति बैरल पर था। शेयर बाजार के अस्थाई आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने बृहस्पतिवार को शुद्ध रुप से 1,231.98 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे। 

रुपया 16 पैसे बढ़कर 81.54 पर 

अमेरिकी मुद्रा में कमजोरी के चलते रुपया शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 16 पैसे बढ़कर 81.54 पर पहुंच गया। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया डॉलर के मुकाबले 81.69 पर खुला, और फिर मजबूती के साथ 81.54 के स्तर पर पहुंच गया। इस तरह स्थानीय मुद्रा ने पिछले बंद भाव के मुकाबले 16 पैसे की बढ़त दर्ज की। बृहस्पतिवार को अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपया 23 पैसे की तेजी के साथ 81.70 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था। विदेशी मुद्रा कारोबारियों ने कहा कि फेडरल ओपन मार्केट समिति के ब्योरे के बाद अमेरिकी डॉलर अपने ऊंचे स्तर से नीचे आ गया है। 

Latest Business News





Source link